कवर्धा सखी वन स्टाॅप सेंटर की मदद से विक्षिप्त मां को मिला बेटा

कवर्धा, 23 अप्रैल 2020। महिला एवं बाल विकास विभाग जिला कबीरधाम द्वारा संचालित सखी ’’वन स्टाॅप सेंटर’’ द्वारा मानसिक रुप से विक्षिप्त महिलाओं का इलाज करा कर उनका उचित पुनर्वास किया जा रहा है। एक अज्ञात मानसिक महिला को सखी ’’वन स्टाप सेंटर’’ आश्रय एवं उचित पुनर्वास के लिए लाया गया। महिला का व्यवहार काफी उग्र थी , सखी ’’वन स्टाप सेंटर’’ की टीम द्वारा महिला से उसके नाम, पता या परिजन के विषय में जानने की कोशिश की गई, पर महिला कुछ भी बता पाने में असमर्थ थी। जिला चिकित्सालय कवर्धा में महिला के मानसिक परीक्षण के बाद महिला को ईलाज के लिए राज्य मानसिक चिकित्सालय सेंदरी जिला-बिलासपुर भेजने की अनुशंसा की गई, जिसके बाद माननीय न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेशानुसार महिला को मानसिक चिकित्सालय भेजा गया था। महिला के ईलाज के बाद उसके स्वास्थ्य में सुधार होने पर पुलिस विभाग एवं सखी ’’वन स्टाप सेंटर’’ की सजगता से महिला के परिजन का पतासाजी कर महिला को उसके पुत्र को सुपुर्द कर महिला का पुनर्वास किया गया। उक्त महिला एवं उसके पुत्र द्वारा सखी ’’वन स्टाप सेंटर’’ को उनके सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया गया।
इस तरह थाना पिपरिया डायल 112 के माध्यम से ग्राम में घुमती हुई और भीख मंाग कर अपना जीविकोपार्जन करने वाली मानसिक रुप से विक्षिप्त महिला का प्रकरण आश्रय एवं उचित पुनर्वास के लिए सखी ’’वन स्टाप सेंटर’’ भेजा गया। काउंसलिंग के बाद महिला के बताए पते पर पतासाजी की गई। पुलिस की पतासाजी में ग्राम संरपंच, कोटवार और अन्य गा्रमवासियों द्वारा महिला के लगभग 5 वर्ष से मानसिक रुप से मंद होने, उचित आश्रय नहीं होने और महिला के ईलाज एवं पुनर्वास में सहयोग करने की बात कही गयी। महिला के उपचार के लिए जिला चिकित्सालय एवं माननीय न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेशानुसार राज्य मानसिक चिकित्सालय सेंदरी जिला-बिलासपुर भेजने की कार्यवाही की जा रही है।
सखी ’’वन स्टाप सेंटर’’ कवर्धा में वर्तमान में कुल 21 विक्षिप्त महिलाओं के प्रकरण प्राप्त हुए है। जिनका राज्य मानसिक चिकित्सालय में ईलाज कराया गया। जिनमें से कुल 11 महिलाओं के मानसिक स्थिति में सुधार के बाद महिला का उचित पुनर्वास किया गया है।

साभार :  जनसम्पर्क ज़िला  कबीरधाम

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.