तेन्दूपत्ता खरीदी के लिए छत्तीसगढ़ आने वाले व्यापारियों को क्वारंटाईन सेंटर में रखकर किया जाएगा नियमित स्वास्थ्य परीक्षण

कोरोना टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही संबंधित कार्य क्षेत्र में मिलेगी तेन्दूपत्ता संग्रहण कार्य की अनुमति

29 अप्रैल 2020/ छत्तीसगढ़ में तेन्दूपत्ता की खरीदी के लिए आने वाले व्यापारियों और उनके प्रतिनिधियों को उनके कार्य क्षेत्र के क्वारंटाईन सेंटर में रखा जाएगा और उनका नियमित स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा। इन लोगों की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही उन्हें संबंधित जिले में तेन्दूपत्ता संग्रहण कार्य की अनुमति दी जाएगी। ये लोग रिपोर्ट निगेटिव आने पर तेन्दूपत्ता संग्रहण, परिवहन आदि कार्य कर सकेंगे। वन मंत्री श्री मोहम्म्द अकबर ने विभागीय अधिकारियों को इस आशय के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कहा है कि राज्य के बाहर से तेन्दूपत्ता खरीदी के लिए आने वाले व्यापारियों तथा उनके प्रतिनिधियों से छत्तीसगढ़ में तेन्दूपत्ता संग्रहण कार्य के दौरान शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों और स्वास्थ्य विभाग की एडवाईजरी का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए। इस तारतम्य में प्रमुख सचिव वन श्री मनोज कुमार पिंगुआ ने राज्य के समस्त कलेक्टरों को पत्र लिखकर निर्देश जारी करते हुए उनका शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित कराने के लिए निर्देश दिए हैं।

श्री पिंगुआ ने जारी पत्र में कहा है कि संबंधित जिले के वन मंडलाधिकारी, प्रबंध संचालक, जिला कलेक्टर को उनके कार्य क्षेत्र अंतर्गत क्रेताओं और उनके ऐसे प्रतिनिधि जो राज्य के बाहर से छत्तीसगढ़ आना चाहते हों उनकी सूची प्रस्तुत करेंगे और संबंधित जिला कलेक्टर उनके कार्य क्षेत्र के जिलों तक इन लोगों का परिवहन कराकर स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों के अनुसार उन्हें कार्य क्षेत्र के जिले के क्वारंटाईन सेंटर में रखेंगे तथा उनके नियमित स्वास्थ्य परीक्षण के बाद कोरोना टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने पर उन्हें संबंधित जिले में तेन्दूपत्ता संग्रहण कार्य करने की अनुमति जारी कर सकेंगे। इस संबंध में वन मंडलाधिकारी उनके क्षेत्र अंतर्गत तेन्दूपत्ता क्रेताओं से संपर्क कर कर्मचारियों के छत्तीसगढ़ प्रवेश के आवागमन मार्ग तथा आगमन तिथि प्राप्त कर संबंधित जिले के कलेक्टर से समन्वय स्थापित करेंगे।

छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज संघ के प्रबंध संचालक श्री संजय शुक्ला ने बताया कि पूर्व के वर्षों में व्यापारियों द्वारा तेन्दूपत्ता बोरा भराई कार्य के लिए अन्य राज्यों से श्रमिक लाए जाते थे। इस वर्ष अन्य राज्यों से श्रमिक लाने पर प्रतिबंध लगाया गया है और बोरा भराई का कार्य स्थानीय श्रमिकों से ही कराने के निर्देश दिए गए हैं।

छत्तीसगढ़ में तेन्दूपत्ता संग्रहण में लगे अन्य राज्यों के व्यापारियों द्वारा महाराष्ट्र, तेलंगाना, आन्ध्रप्रदेश, ओडिशा इत्यादि राज्यों से छत्तीसगढ़ में तेन्दूपत्ता संग्रहण, परिवहन, भण्डारण आदि में संबंधित कार्यों के लिए अन्य राज्यों के क्रेताओं एवं उनके प्रतिनिधियों का छत्तीसगढ़ में प्रवेश के संबंध में आग्रह किया गया है.

साभार : जनसम्पर्क ज़िला कबीरधाम

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.