बैंगलोर स्पेशल श्रमिक ट्रेन से विभिन्न जिलों के 219 श्रमिक सकुशल पहुंचे राजधानी, थर्मल स्केन, चिकित्सा परीक्षण के बाद बसों से क्वारंटाईन सेंटर भेजे गए श्रमिक


रायपुर।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल और निर्देश पर देश के अन्य राज्यों में फंसे छत्तीसगढ़ के श्रमिकों और अन्य लोगो को सकुशल वापस लाने का सिलसिला लगातार जारी है। इसी क्रम में बैंगलोर से चली श्रमिक स्पेशल ट्रेन से 219 श्रमिक राजधानी के रायपुर रेल्वे स्टेशन पर उतरे।

इनमें बस्तर जिले के 86, गरियाबंद के 33, कांकेर के 36, कोण्डागांव के 14, महासमुंद के 8, धमतरी के 8, दंतेवाड़ा के 3, नारायणपुर के 3, ओड़िसा के 1, बीजापुर के 1 और रायपुर के 26 श्रमिक शामिल है। श्रमिक यात्रियों को रायपुर रेल्वे स्टेशन में फिजिकल-सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए दो-दो बोगियों के अंतराल में बारी-बारी से उतारा गया।

ट्रेन आगमन के पहले स्टेशन के प्लेटफार्म को सैनिटाइज किया गया। सभी श्रमिकों की मेडिकल टीम द्वारा स्वास्थ्य जांच, थर्मल स्क्रीनिंग और पल्स आॅक्सीमीटर से उनके तापमान के साथ-साथ पल्स एवं आॅक्सीजन सांद्रता की जांच की गई।

श्रमिकों को रेल्वे स्टेशन पर ही पैक्ड भोजन भी प्रदान किया गया। सभी श्रमिकों को हिदायत दी गई कि वे 14 दिन क्वारंटाईन में रहे तथा कोरोना से बचाव एवं रक्षा के लिए सभी निदेर्शों का पालन करें। इसके पश्चात उन्हें विशेष बसों से उनके जिलों के क्वारंटाईन सेंटर भेजा गया। श्रमिकों ने राजधानी के रेल्वे स्टेशन पहुंचने पर राहत की सांस ली और राज्य सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया।

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.