BIG BREAKING : साउंड संचालकों को बड़ी राहत, DJ और धुमाल लगाने जिला प्रशासन ​ने दी अनुमति

रायपुर: कोरोना महामारी के चलते विगत 8 महीनों से आर्थिक संकट से जूझ रहे साउंड व्यापारियों को ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस की पहल से बड़ी राहत मिली है। ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस की पहल के बाद जिला प्रशासन ने साउंड व्यापारियों की समस्या पर संज्ञान लेते हुए साउंड सिस्टम लगाने की अनुमति दे दी है। हालांकि इसके लिए अनुविभागी अधिकारी से अनुमति लेनी होगी।

दरअसल दुर्ग जिले में नवरात्रि एवं दशहरा के गाइडलाइन में ध्वनि विस्तार यंत्र की अनुमति नहीं थी, जिससे साउंड यूनियन चिंतित थे। इसके बाद उन्होंने अपनी समस्याओं से ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष क्षितिज चंद्राकर एवं दीप सारस्वत को अवगत कराया।

क्षितिज चंद्राकर और दीप सारस्वत ने साउंड व्यापारियों की समस्याओं को लेकर जिला प्रशासन को पत्र लिखकर व्यापारियों को राहत देने की मांग की थी, जिसके बाद जिला प्रशासन ने नवरात्रि और दशहरा उत्सव में साउंड सिस्टम लगाने की अनुमति दे दी है।

डीजे और धुमाल बजाने वाले को थर्मल स्क्रीनिंग टेस्ट कराना जरूरी होगा। वहीं मास्क और हैंड सेनेटाइजर का उपयोग करना होगा। कम से कम दो फीट पर एक-दूसरे के साथ खड़ा रहना होगा। एनजीटी और ध्वनि प्रदूषण नियम का पालन करना होगा।

शर्तों का उल्लंघन करने पर धुमाल, बैंड और डीजे संचालक पर कानूनी कार्रवाई की जायेगी। डीजे को रात दस बजे तक बजाने की अनुमति होगी।

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.