कलेक्टर ने पंडरिया वनांचल का भ्रमण कर, कोरोना वायरस के संक्रमण और उनके बचाव के उपायों की तैयारियां का जायजा लिया

कवर्धा, 08 मई 2020। कलेक्टर श्री अवनीश कुमार शरण ने नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) की रोकथाम नियंत्रण और उनके संक्रमण के बचाव के उपायों की तैयारियों के संबंध में पंडरिया विकासखण्ड के वनांचल क्षेत्रों का सघन निरीक्षण किया। कलेक्टर श्री शरण के साथ जिला पंचायत सीईओ श्री विजय दयाराम के. ने भी निरीक्षण किया।

कलेक्टर ने पंडरिया विकासखंड के सुदूर एवं दुर्गम वनांचल क्षेत्र कुकदूर, कामठी, तेलियापानी, भाकूर, पोलमी बैगा ग्रामों का भी निरीक्षण किया। यहां बताया गया कि पंडरिया अनुविभाग के 144 ग्राम पंचायतों के सभी शासकीय भवनों,स्कूल, आश्रम,छात्रावास और सामुदायिक भवनों तथा निजी स्कूल भवनों को क्वारेन्टीन सेंटर सह राहत बनाए गए है।

कलेक्टर श्री शरण ने वनांचल क्षेत्रों का भ्रमण के दौरान पंडरिया से पोलमी में संचालित चेकपोस्ट का निरीक्षण किया। पोलमी मार्ग कबीरधाम जिले का प्रमुख वनांचल ग्राम है। यह मार्ग मध्यप्रदेश की प्रमुख पर्यटन स्थल अमरकंटक को जोड़ने वाली मार्ग है।

यह अंतर्राज्यीय सीमा होने के कारण पोलमी में कोरोना संक्रमण के बचाव के उपायों के लिए बैरियर संचालित की जा रही है। कलेक्टर श्री शरण ने इस पोलमी बैरियर के अन्य राज्यों से आने वाले श्रमिकों व अन्य नागरिकों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए स्वास्थ्य टीम यहां तैनात करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि ग्रीष्मकालीन को ध्यान में रखते हुए लू से बचने के लिए पीने के साफ पानी तथा ओआरएस घेल का पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए।

पंडरिया के 144 ग्रामों में क्वारेटाईन सह-राहत शिविर

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के विशेष प्रयासों से जिले के अन्य राज्यों में फंसे श्रमिकों की सकुशल वापसी तथा कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए पंडरिया विकासखंड के 144 ग्रामों में सभी शासकीय भवन, स्कूल, आश्रम-छात्रावास को क्वारेटाईन सेंटर सह राहत शिविर के रूप में बनाया गया है। इन सभी क्वारेंटाईन सेंटरों में भोजन आदि की व्यवस्था के लिए अधिकारी-कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। साथ ही ग्राम सरपंच और ग्राम पटेल को भी जिम्मेदारी दी गई है।

कलेक्टर ने बैगा बच्चों की जागरूकता की तारीफ की

कलेक्टर श्री अवनीश कुमार शरण ने अपने वनांचल ग्रामों के भ्रमण के दौरान बैगा बाहूल ग्राम डालामौहा के बैगा बच्चों और ग्रामीणों द्वारा स्वयं से कोरोना वायरस के रोकथाम और उनके बचाव के उपायों की तारीफ की। कलेक्टर ने अपनी गाड़ी रूकवाकर बैगा बच्चे अमन मेरावी, प्रताप, युवराज से चर्चा की। बच्चों ने कलेक्टर को बताया कि कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए ग्रामीणों की मदद से गांव के बाहर स्वयं से बैरियर लगाया है। यह मार्ग मध्यप्रदेश को जोड़ती है, इसलिए अन्य राज्यों से आने वाले लोगों का गांव की सीमा में प्रवेश नहीं करने दिया जाता है।

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.