ECONOMY व्यापार: CHINA को त्यौहारी सीजन में 40 हजार करोड़ का बड़ा झटका देने तैयारी पूर्ण : कैट

रायपुर,27 अगस्त 2020। कन्फेडरेशन ऑफ आल इंड़िया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष मगेलाल मालू, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, प्रदेश महामंत्री जितेन्द्र दोशी, प्रदेश कार्यकारी महामंत्री परमानंद जैन, प्रदेश कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल एवं प्रदेश प्रवक्ता राजकुमार राठी ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकल पर वोकल तथा आत्मनिर्भर भारत के आवाहन को वास्तव में अमली जामा पहनाने में कैट के नेतृत्व में दिल्ली सहित देश भर के व्यापारी एक बड़ा संकल्प लेकर इस बार की दिवाली को सही मायनों में हिंदुस्तानी दिवाली के रूप में मनाने में जुट गए हैं जिसमें चीनी सामान का बहिष्कार करते हुए केवल भारतीय सामान ही बेचा एवं खरीदा जाएगा।

हर वर्ष राखी से शुरू होकर दिवाली तक देश में लगभग 5 महीने का त्योहारी सीजन रहता है और इस सीजन में एक अनुमान के मुताबिक पिछले वर्षों में चीन लगभग 40 हजार करोड़ रुपए का त्योहारों से सम्बंधित सामान भारत को आयात करता है। लेकिन इस बार देश भर में चीन के खिलाफ जिस प्रकार का वातावरण बना है उसके चलते चीन को लगभग 40 हजार करोड़ के बड़े व्यापार से हाथ धोना पड़ेगा। व्यापारियों ने यह तय किया है की इस त्योहारी सीजन में चीन का बना कोई भी सामान देश में नहीं बिकेगा।

कैट ने इस सम्बंध में दिल्ली सहित देश भर में व्यापक रूप से तैयारियाँ शुरू कर दी हैं और भारतीय सामान को बड़े रूप में देश भर में उपलब्ध कराने और उसके विक्रय के लिए देश के हर राज्य में इंटरनेट प्रदर्शनी लगाई जाएँगी जिसकी शुरुआत कल दिल्ली में कैट के कार्यालय में आयोजित एक वर्चूअल प्रदर्शनी से होगी। कैट के इस अभियान में देश भर के 40 हजार से ज्यादा व्यापारिक संगठन जुड़ेंगे।

कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष  अमर पारवानी ने कहा की इस मामले में देश में एक बड़ी पहल की शुरुआत करते हुए कैट ने प्रदेश सहित देश भर के व्यापारियों एवं लोगों से हिंदुस्तानी दिवाली मनाने का आवाहन करते हुए प्रदेश सहित देश भर के व्यापारिक संगठनों को सलाह दी है की वो देश के कोने कोने से दिवाली पर उपयोग में आने वाले सामान बनाने वाले स्थानीय कुम्हार, शिल्पकार, मूर्तिकार, कलाकार आदि को चिन्हित कर उनके बनाए हुए सामानों को व्यापारियों के द्वारा बिकवाएँ वहीं दूसरी ओर उन्होंने ने यह भी बताया कि कैट ने प्रदेश के सभी व्यापारियो से आग्रह किया है।

कि इस दिवाली से सम्बंधित सभी सामान जिसमें दीये, मोमबत्ती, बिजली की लड़ियाँ , बिजली के रंग बिरंगे बल्ब , दुकानों एवं घरों को सजाने के लिए सजावटी सामान , उपहार देने की वस्तुएँ , पूजन के लिए गणेश जी , लक्ष्मी जी और हनुमान जी की मिट्टी से बनी मूर्तियाँ और अनेक प्रकार के सामान नए एवं अभिनव रूप में स्थानीय लोगों से बनवाएँ जिससे कि प्रदेश के कुटीर उद्योगो को बढ़ावा मिलेगा साथ ही स्थानीय लोगो को रोजगार की प्राप्ति होगी और उनकी आय में वृद्वि। और व्यापारियों के द्वारा उनकी बिक्री घर घर तक करें। उन्होंने जोर देकर कहा की प्रदेश सहित देश के किसी भी कोने में भारतीय सामान की कमी नहीं होगी और लोग पूरे उत्साह से इस बार हिंदुस्तानी दिवाली मनाएँगे ।

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.