कबीरधाम जिले में प्रदेश का पहला इथेनॉल प्लांट की स्थापना के लिए अंतिम अनुमोदन की प्रक्रिया पूरी

ईथेनाॅल प्लांट की स्थापना के लिए अंतिम अनुमोदन के लिए मुख्य सचिव श्री आरपी मंडल की अध्यक्षता में पी.पी.पी.ए.सी. कमेटी की हुई बैठक

निवेशक के साथ अनुबंध करने के प्रारूप का अनुमोदन करते हुए कमेटी द्वारा ईथेनाॅल प्लांट की स्थापना के लिए अनुशंसा की गईं

पी.पी.पी माॅडल से ईथेनाल प्लाट की स्थापना का यह पहला उदाहरण होगा

कवर्धा, 4 सितम्बर 2020। प्रदेश के पहला भोरमदेव सहकारी शक्कर कारखाना मर्यादित कवर्धा (कबीरधाम जिले) में पी.पी.पी माॅडल से ईथेनाॅल प्लांट की स्थापना के लिए अंतिम अनुमोदन के लिए मुख्य सचिव श्री आरपी मंडल की अध्यक्षता में पी.पी.पी.ए.सी. कमेटी की बैठक महानदी भवन, मंत्रालय, अटल नगर, नवा रायपुर में बैठक आहूत की गई ।
सचिव सहकारिता तथा पंजीयक सहकारी संस्थाएं द्वारा ईथेनाॅल प्लांट के स्थापना के संबंध में पी.पी.टी प्रजेटेंशन के माध्यम से जानकारिया कमेटी के समक्ष प्रस्तुत की गई ।

भोरमदेव सहकारी शक्कर कारखाना में ईथेनाॅल प्लांट कीे स्थापना के लिए वित्तीय निविदा (आर.एफ.पी.) आमंत्रित करने तथा निवेशक के साथ अनुबंध करने के प्रारूप का अनुमोदन करते हुए कमेटी द्वारा ईथेनाॅल प्लांट की स्थापना हेतु अनुशंसा की गईं। उक्त अनुशंसा के बाद भोरमदेव सहकारी शक्कर कारखाने में ईथेनाॅल प्लांट के स्थापना का मार्ग प्रशस्त हो गया है। तकनीकि निविदा में सफल निविदाकारों से ई-प्राक्योंरमेंट पोर्टल के माध्यम से वित्तीय निविदा आमंत्रित की जाएगी।

सहकारी क्षेत्र में स्थित शक्कर कारखाना में पी.पी.पी माॅडल से ईथेनाल प्लाट की स्थापना का यह पहला उदाहरण होगा, जिससे क्षेत्र में रोजगार के अवसर उत्पन्न होगे तथा आर्थिक समृद्धि का आधार मजबूत होगा । इस प्रकार प्लांट स्थापना से गन्ना किसानों तथा शक्कर कारखानों को वित्तीय लाभ होगा।

बैठक में श्री अमिताभ जैन अपर मुख्य सचिव, वित्त विभाग, श्री गौरव द्विवेदी प्रमुख सचिव, योजना, आर्थिक एवं साख्यिकीय विभाग, श्री नरेश कुमार चन्द्रवंशी प्रमुख सचिव, विधि एवं विधायी कार्य विभाग, श्री प्रसन्ना आर सचिव, सहकारिता विभाग, श्री हिमशिखर गुप्ता, पंजीयक सहकारी संस्थाऐं,श्री मुक्तेष्वर सिंह प्रतिनिधि, सदस्य सचिव, राज्य योजना आयोग, श्री सुमित सरकार तकनीकी सदस्य,प्रोजेक्ट आफिसर, सीबीडीए..एवं सहकारिता विभाग के अधिकारी, भूपेंद्र ठाकुर प्रबंध संचालक भोरमदेव सहकारी शक्कर कारखाना शामिल हुए।

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.