गुंडरदेही विधायक एवं संसदीय सचिव कुंवर सिंह निषाद का दक्षिण क्षेत्र मरवाही के धनोरा मे सघन जनसंपर्क लोगों मे भारी उत्साह

 

संवाददाता:- प्रयास कैवर्त

छत्तीसगढ़ की बहुचर्चित और ऐतिहासिक सीट मरवाही के उपचुनाव को लेकर बिगुल बज चुका है,

द भारत लाइव:-  मरवाही उपचुनाव को लेकर सरगर्मी जोरों शोरों पर है, पार्टी के आला नेताओं का दौरा जारी है, ऐसे में कांग्रेस पार्टी के द्वारा हर किले में सुरक्षा के कडे इंतजाम को लेकर हर क्षेत्र में कांग्रेस के योद्धाओं को उपचुनाव को लेकर जिम्मेदारी सौंपी है, उसी क्रम में दक्षिण क्षेत्र मरवाही के मछुआ बहुल ग्राम चंगेरी ,परासी के लिए गुंडरदेही विधायक एवं संसदीय सचिव श्री कुंवर सिंह निषाद को प्रभारी नियुक्त किया है, बता दे विधायक एवं संसदीय सचिव कुंवर सिंह निषाद छत्तीसगढ़ के चर्चित मछुआ वर्ग के पहले विधायक और एवं संसदीय सचिव हैं, लोक कला और संस्कृति में इन्हे महारत हासिल है, अपने सहज और सरल स्वभाव के बेबाकी अंदाज से जनमानस की बात को सरकार तक पहुंचाने के लिए यह खासा लोकप्रिय है, यही कारण है कि ग्राम परासी , धनोरा में मछुआ बहुल क्षेत्र में इनकी भीड़ ताबड़तोड़ दिखाई दे रही है, हर मछुआ वर्ग के लोग यही कहते हैं दिखाई पड़ रहे थे कि हमर सागा विधायक आए हैं हमन अपन समस्या ला बताबो अउर ओखर हर बात ला मानबो, धनोरा गांव में जन संपर्क करते हुए गुंडरदेही विधायक एवं संसदीय सचिव कुंवर सिंह निषाद ने जनमानस को संबोधित करते हुए कहा, कांग्रेस सरकार ने भूपेश बघेल ने मुझे आपकी समस्याओं को दूर करने के लिए भेजा है,

हमें और आपको कांग्रेस के प्रत्याशी डॉक्टर के के ध्रुव को मिलकर जिताना है, डॉक्टर के के ध्रुव आप लोगों की सेवा करने के लिए ही सामने आए हैं, हम सभी को उनका साथ देना होगा, कांग्रेस सरकार ने क्षेत्र की बहुप्रतीक्षित मांगों को समय से पहले पूरा कर दिया है, जो 20 वर्षों में नहीं हो पाई है, हमारी कांग्रेस सरकार विकास में विश्वास रखती है, बातों में नहीं, क्षेत्र की जनता विकास चाहती है, विकास में आप सभी की सहभागिता सुनिश्चित होगी, हमें मिलकर बहुत विकास करना है, मरवाही क्षेत्र में जीत की नई इतिहास लिखना है, 3 नवंबर को लोकतंत्र के महापर्व में अपना मतदान देकर मरवाही क्षेत्र का विकास करने में नयी गाथा लिखने को तैयार रहें,

इस दौरान जवाहर केवट युवा कांग्रेसी नेता, छोटे लाल केवट मछुआ जिलाध्यक्ष कांग्रेस, सरपंच धनोरा, सक्रिय महिला समूह धनौरा, सहित सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे,

 

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.