लॉकडाउन के दौरान सामने आई मार्मिक तस्वीर, पैरों से दिव्यांग 150 किमी पैदल चलकर पहुंचा कवर्धा


कोरोना संक्रमण के कारण देश भर में लॉकडाउन किया गया है। लॉकडाउन के दौरान प्रशासन लगातार गरीबों और जरुरतमंदों की मदद करने और उनकी समस्याओं का निराकरण करने का दावा करती नजर आ रही है। लेकिन कवर्धा से सामने आई एक तस्वीर सरकार के सभी दावों को खोखला साबित कर रही है।

दरअसल एक मजदूर 150 किमी पैदल चलकर कवर्धा पहुंचा है। यह मजदूर पैरों से दिव्यांग है और छत्तीसगढ़ से मध्यप्रदेश जाने के लिए निकला है। यह मजदूर 3 जिलों के सीमाओं को पारकर अंतर्राज्यीय सीमा में पहुंचा लेकिन शासन-प्रशासन की ओर से कोई मदद नहीं मिली। जानकारी के मुताबिक 15 मजदूर छत्तीसगढ़ के परपोंडी से मध्यप्रदेश के मोतीनाला के लिए पैदल निकले हैं।

देश में जारी कोरोना लॉक डाउन के कारण बड़ी संख्या में गरीब मजदूर अलग अलग इलाकों में फंसे हुए हैं। लेकिन काम न होने के कारण अब खाने पीने के भी लाले पड़ने लगें और कई मजदूर पैदल ही अपने अपने घरों की ओर निकल पड़े। सरकार और प्रशासन जरुरतमंदों की मदद करने और उनकी समस्याओं का निराकरण करने का दावा करती नजर आ रही है। लेकिन कवर्धा से सामने आई एक तस्वीर सरकार के सभी दावों को खोखला साबित कर रही है।

दरअसल एक मजदूर 150 किमी पैदल चलकर कवर्धा पहुंचा है। यह मजदूर पैरों से दिव्यांग है और छत्तीसगढ़ से मध्यप्रदेश जाने के लिए निकला है। यह मजदूर 3 जिलों के सीमाओं को पारकर अंतर्राज्यीय सीमा में पहुंचा लेकिन शासन-प्रशासन की ओर से कोई मदद नहीं मिली।

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.