कबीरधाम: मुख्यमंत्री 20 अगस्त को राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत कबीरधाम जिले के 80 हजार किसानों के खातों में अंतरित करेंगे 59 करोड़ 47 लाख रूपए की दूसरी किश्त


कबीरधाम जिले के 17 हजार से अधिक तेंदूपत्ता संग्राहकों को मिलेगा 4 करोड़ करोड़ 93 लाख 38 हजार रूपए का प्रोत्साहन पारिश्रमिक

गोधन न्याय योजनाः विक्रेताओं को दूसरे पखवाड़े में मिलेगी राशि 15 लाख रूपए

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयोजित होगा कार्यक्रम

कवर्धा, 19 अगस्त 2020। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल अपने मंत्री मण्डल के सहयोगियों के साथ देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की जयंती 20 अगस्त को अपने निवास कार्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित कार्यक्रम में राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत प्रदेश के 19 लाख किसानों को 1500 करोड़ रूपए की दूसरी किश्त की राशि का ऑनलाईन अंतरण करेंगे। मुख्यमंत्री श्री बघेल इस योजना के तहत कबीरधाम जिले के 80 हजार 578 किसानों को 59 करोड़ 47 लाख रूपए की दूसरी किस्त सीधे किसानों के खाते में अंतरण करेंगे। कार्यक्रम में इसके अलावा कबीरधाम जिले के 17 हजार 940 तेन्दूपत्ता हितग्राहियों को 4 करोड़ 93 लाख 38 हजार रूपए का बोनस वितरण भी करंेगे। गोधन न्याय योजना के तहत जिले 1491 पशुपालक गोबर विक्रेताओं को दूसरे पखवाड़े में बेचे गए गोबर के लिए 15 लाख 88 हजार 526 रूपए राशि का अंतरण भी किया जाएगा। जिले में 2 अगस्त से 15 अगस्त तक 1491 पशुपालकों से 7942.63 क्विंटल गोबर की परिवहन भाड़ा सहित दो रूपए प्रति किलो की दर से खरीदी की गई है।

कलेक्टर श्री रमेश कुमार शर्मा ने बताया कि इन राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत किसानों को, तेन्दूपत्ता संग्राहक परिवारों को बोनस राशि वितरण करने और गौधन न्याय योजना के तहत पशुपालकों राशि भूगतान करने की सभी तैयारियां कर ली गई है।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के किसानों को मिल गई है पहली किस्त

छत्तीसगढ़ सरकार की राजीव गांधी किसान न्याय योजना किसानों को खेती-किसानी के लिए प्रोत्साहित करने की देश में अपने तरह की एक बडी योजना है। प्रदेश के किसानों के लिए शुरू की गई इस योजना के तहत कबीरधाम जिले के धान उत्पादक 80 हजार किसानों को 21 हजार 5 सौ 21 लाख रूपए चार किश्तों में सीधे उनके खातों में हस्तांतरित की जाएगी। राजीव गांधी जी के शहादत दिवस 21 मई को योजना का शुभारंभ होते ही जिले के किसानों को प्रथम किस्त 59 करोड 47 लाख रूपए डीबीटी के माध्यम से किसानों के खातें में डाला गया है। राजीव गांधी न्याय योजना के तहत जिले के गन्ना उत्पादक 19537 किसानों को 42.86 करोड़ का सीधा फायदा पहुंचा गया है। गोधन न्याय योजना के तहत पशुपालकांे से खरीदी गए गोबर का भूगतान कर लिया गया है। अब दूसरे पखवाड़ें में खरीदी किए गए गोबर का भुगतान लगभग 15 लाख 88 हजार 526 रूपए राशि का अंतरण भी किया जाएगा।

मक्का उत्पाद किसानों को भी मिलेगा लाभ

राज्य सरकार ने इस योजना के तहत खरीफ में सहकारी समिति लैम्पस के माध्यम से उपार्जित मक्का फसल के किसानों को भी लाभ देने का निर्णय लिया है। मक्का फसल के आकड़े लिए जा रहे है। जिसके आधार पर आगामी किश्त में उनको भुगतान किया जाएगा। इस योजना में राज्य सरकार ने खरीफ 2020 से इसमें धान, मक्का, सोयाबीन, मूंगफली, तिल, अरहर, मूंग, उड़द, कुल्थी, रामतिल, कोदो, कोटकी तथा रबी में गन्ना फसल को शामिल किया है। सरकार ने यह भी कहा है कि अनुदान लेने वाला किसान यदि गत वर्ष धान की फसल लेता है और इस साल धान के स्थान पर योजना में शामिल अन्य फसल लेता हैं तो ऐसी स्थिति में उन्हें राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ भी दिए जाएंगे।

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.