Lockdown 3.0: छत्‍तीसगढ़ के 1 लाख से ज्‍यादा लोग प्रदेश से बाहर, सभी को बुलाने की हो रही तैयारी


नई दिल्‍ली.
 लॉकडाउन (Lockdown) के 17 मई तक बढ़ने और रेलवे द्वारा ‘श्रमिक विशेष ट्रेन’ चलाने की घोषणा के बाद प्रवासी मजदूर समेत अन्‍य लोग घर वापसी को लेकर उत्‍साहित हैं. वहीं विभिन्‍न प्रदेशों की सरकारें भी आंकलन करने में जुट गई हैं कि उनके प्रदेश से कितने लोग बाहर हैं और किन-किन राज्‍यों में हैं, ताकि इनकी सुरक्षित घर वापसी कराई जा सके.

छत्‍तीसगढ़ सरकार भी आंकलन कर रही है कि राज्‍य से कितने लोग बाहर हैं. छत्‍तीसगढ़ के नोडल अधिकारी सोनमनी बोरा ने अपने एक बयान में कहा है, ‘हमें अब तक लगभग 1,09,000 लोगों की जानकारी मिली है, लेकिन हम अनुमान नहीं लगा सकते हैं कि उनमें से कितने वापस आएंगे. यह संख्या बड़ी भी हो सकती है क्योंकि हमारे राज्य के कई लोग कहीं और काम कर रहे हैं. इस बारे में हम एक आंकलन कर रहे हैं।

बता दें कि तीसरी बार लॉकडाउन बढ़ते ही रेलवे ने तत्‍काल इस बारे में बयान जारी कर दिया था कि कोविड-19 (Covid-19) के मद्देनजर 17 मई तक सभी रेलवे सेवाएं रद्द कर दी हैं लेकिन विभिन्‍न स्‍थानों पर फंसे हुए प्रवासी कामगारों, छात्रों, पर्यटकों, तीर्थयात्रियों आदि को उनके गंतव्‍य तक पहुंचाने के लिए रेलवे सेवाएं देगा. इसके तहत रेलवे कुछ ‘श्रमिक विशेष ट्रेन’ चलाएगा.

इस मामले में रेलवे ने यह भी कहा है कि ये स्‍पेशल ट्रेनें दो स्‍थानों के बीच ही चलेंगी और दोनों राज्‍य सरकारों की आग्रह पर चलेंगी. साथ ही इस दौरान कोविड-19 के प्रकोप को रोकने के लिए दिए गए सभी प्रोटोकॉल का पालन करना जरूरी होगा. बता दें कि रेलवे की इस घोषणा के बाद कुछ राज्‍यों से इन स्‍पेशन ट्रेन का संचालन शुरू हो गया है.

 

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.