SHARE MARKET : बाजार में भारी बिकवाली, Sensex और Nifty दोनों धड़ाम

नई दिल्ली : कमजोर वैश्विक संकेतों के चलते आज सप्ताह के चौथे कारोबारी दिन यानी गुरुवार को शेयर बाजार में भारी बिकवाली देखने को मिल रही है. बाजार के लगभग सभी सेक्टर गिरावट के साथ कारोबार कर रहे हैं. BSE Sensex 1104.42 अंक नीचे 39,690.32 पर और Nifty 303.05 अंक नीचे 11,668.00 पर कारोबार कर रहा है. बाजार के दिग्गज रिलायंस इंडस्ट्रीज और इंफोसिस के शेयरों में भी 3-3 फीसदी से ज्यादा की गिरावट है.

 

निफ्टी आईटी इंडेक्स में 675 और निफ्टी बैंक इंडेक्स में 857 अंकों से ज्यादा की गिरावट है. बंधन बैंक का शेयर 5 फीसदी से ज्यादा नीचे है. वहीं, माइंडट्री का शेयर भी 9% नीचे कारोबार कर रहा है. ऑटो शेयर मदरसन सूमी के शेयर में भी 5% की गिरावट है. निफ्टी में बजाज फाइनेंस और टेक महिंद्रा का शेयर 4-4 फीसदी नीचे कारोबार कर रहा है.

HCL टेक और माइंडट्री के शेयरों में भी 5-5 फीसदी से ज्यादा की गिरावट है. वहीं, एचसीएल टेक और एसबीआई के शेयरों में भी 3-3 फीसदी की गिरावट है. जबकि एशियन पेंट का शेयर 1% बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है. सुबह बीएसई 253.31 अंक ऊपर 41,048.05 पर और निफ्टी 52.4 अंक ऊपर 12,023.45 के स्तर पर खुला था.

बाजार में भारी गिरावट की वजह

 

1. अमेरिका में राहत पैकेज में देरी – अमेरिकी ट्रेजरी विभाग के सेक्रेटरी स्टीव मुनचिन ने एक बयान में कहा है कि वे और हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव स्पीकर नेंसी पेलोसी किसी भी अन्य कोरोना इकोनॉमिक रिलीफ पैकेज से काफी दूर हैं. यानी 3 नवंबर के होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले राहत पैकेज की संभावना बेहद कम है.

 

2. अमेरिका-चीन तनाव – एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यूएस स्टेट डिपार्टमेंट ने ट्रम्प प्रशासन के सामने एक प्रस्तव रखा है. इसके मुताबिक चीन की दिग्गज कंपनी अलीबाबा की एंट ग्रुप को ब्लैकलिस्ट में जोड़ने की बात कही गई है. इससे बीजिंग और वाशिंगटन के बीच तनाव बढ़ सकता है.

3. कोविड-19 मामलों में बढ़ोतरी – कोरोना के मामले बढ़ने से निवेशकों को चिंता है कि सरकार दोबारा लॉकडाउन का ऐलान कर सकती है. क्योंकि यूरोपीय देश स्कूलों को बंद कर रहे हैं.

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.