माताओं के लिए विशेष पहल “पौष्टिक आहार किट” – क्वारंटाइन गर्भवती महिलाओं और शिशुवती माताओं और बच्चों के लिए खास व्यवस्था

सर्वे के आधार पर सेंटरों की लगभग 300 माताओं को मिलेगा लाभ

कवर्धा 25 मई,2020। कोरोनावायरस (कोविड-19) महामारी संक्रमण के दौरान संपूर्ण देश में चौथे चरण का लॉकडाउन है। प्रवासी मजदूरों और दूसरे राज्यों में फंसे हुए लोगों को उनके गृह ग्राम तक पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। कोरोना वायरस के संक्रमण के संचरण की संभावना को रोकने के लिए बाहर से आए हुए लोगों को ऐसे समय में क्वारेंटाइन सेंटर में रखने की सलाह दी जा रही है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देश पर जिले के क्वारेंटाइन सेंटर में रहने वाली महिलाओं ( शिशुवती एवं गर्भवती) के खानपान पर विशेष ध्यान देते हुए कवर्धा जिला प्रशासन की ओर से पौष्टिक आहार किट दिया जा रहा है।

कबीरधाम जिले के क्वारेंटाइन सेंटर में रहने वाले सभी को सामान्य भोजन तो दिया जा रहा है और उनके स्वास्थ्य की देखभाल भी की जा रही है। परंतु क्वारेंटाइन में रह रही गर्भवती महिलाओं और शिशुवती माताओं के स्वास्थ्य परिक्षण कर उन्हें विशेष पौष्टिक आहार दिए जाने का निर्णय लिया गया। शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन कवर्धा एवं स्वास्थ्य विभाग, कवर्धा की ओर से सभी क्वारेंटाइन सेंटरों की निरीक्षण कर वहां ऐसी महिलाओं को चिन्हांकित किया गया। इसके बाद विशेष आहार किट उनको दिए जाने का फैसला लिया गया। रविवार से इसकी शुरूआत कवर्धा ब्लॉक के ग्राम पंचायत दशरंपुर और गुड़ा से कर दी गई है। साथ ही गर्भवतियों की विशेष देखभाल करने संबंधित ग्राम पंचायत क्षेत्र में कार्यरत स्वास्थ्य कार्यकर्ता एवं मितानिनों को जिम्मेदारी दी गई है।

क्वारेंटाइन सेंटरों में रह रही गर्भवती महिलाएं चिन्हांकित- जिला कलेक्टर

कलेक्टर श्री अवनीश कुमार शरण ने बताया जिले के क्वारेंटाइन सेंटरों में अलग-अलग प्रदेश व जिले से प्रवासी श्रमिक और लोग आ रहे हैं। प्रवासी श्रमिकों में बड़ी संख्या में गर्भवती महिलाएं और शिशुवती माताएं हैं, जिन्हें 14 दिनों के क्वारेंटाइन में रखा गया है। शासन के आदेशानुसार जिले के क्वारेंटाइन सेंटरों में रहने वाली महिलाओं का सर्वे करवाया , जिसमें लगभग 250 से 300 महिलाएं चिन्हित हुई हैं। उन महिलाओं को अतिरक्त आहार के तौर पर “पौष्टिक आहार किट” दिया जा रहा है। ऐसी महिलाओं के लिए क्वारेंटाइन सेंटरों में अलग से रूम की व्यवस्था भी की गई है।

“पौष्टिक आहार किट” है खास- जिला कार्यक्रम अधिकारी नीलू धृतलहरे के मुताबिक सभी क्वारेंटाइन सेंटर के गर्भवती महिलाओं की सूची तैयार की गई है, जिसके बाद काफी संख्या में महिलाओं के गर्भवती होने की जानकारी मिली है। उन महिलाओं को विशेष किट प्रदान किया जा रहा है। “पौष्टिक आहार किट” में मूंगफली दाना, गुड़ पापड़ी, चना, प्रोटीन पाउडर, दूध पाउडर, खजूर हैं। इसके अलावा होने वाले बच्चे के लिए भी एक जोड़ी कपड़ा दिया जा रहा है।

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.