अब पुरानी दिल्ली से चलेगी स्पेशल श्रमिक ट्रेन, आज बिहार के लिए खुलेंगी 3 ट्रेनें


नई दिल्ली।
कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए ध्यान देने वाली खबर है। अब पुरानी दिल्ली से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें खुलेंगी। समाचार एजेंसी एएनआई को रेलवे अधिकारी ने बताया कि अब पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें खुलेंगी और आज बिहार के लिए तीन ट्रेनें खुल रही हैं, जो भागलपुर, दरभंगा और बरौनी जाएगी।

बता दें कि लॉकडाउन की वजह से देश के अलग-अलग हिस्सों में प्रवासी मजदूर फंसे हैं और अब उन्हें राज्य और केंद्र सरकार के बीच सामंजस्य से श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से घर पहुंचाया जा रहा है। दरअसल, भारतीय रेलवे के मुताबिक, एक मई से अभी तक 542 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई गई हैं। इन ट्रेनों में अभी तक कुल 6.48 लाख मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाया गया,जिनमें बिहार, झारखंड, यूपी समेत कई राज्यों के प्रवासी मजदूर शामिल हैं।

रोजाना 100 श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने का सुझाव
कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से दूसरे राज्यों में फंसे प्रवासी श्रमिकों की घर वासपी के लिए गृह मंत्रालय ने अगले कुछ हफ्तों तक हर दिन कम से कम 100 श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने को कहा है। सोमवार को रेलवे और राज्यों के नोडल अधिकारियों के साथ समीक्षा के दौरान गृह मंत्रालय ने इसके लिए व्यवस्था करने को कहा ताकि लोगों को किसी तरह की दिक्कत ना हो। इन श्रमिक स्पेशल ट्रेनों द्वारा प्रवासियों को बरौनी, तिरुचिरापल्ली, टिटलागढ़, खंडवा, जगन्नाथपुर, खुर्दा रोड, प्रयागराज, छपरा, बलिया, गया, पूर्णिया, वाराणसी, दरभंगा, गोरखपुर, लखनऊ, जौनपुर, हटिया, बस्ती, कटिहार, दानापुर, मुजफ्फरपुर, सहरसा इत्यादि शहरों तक पहुंचाया गया है।

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में सफर से पहले श्रमिकों की स्क्रीनिंग की जाती है और जांच के बाद ही उन्हें ट्रेन में बैठने दिया जाता है। सफर के दौरान प्रवासी मजदूरों को स्टेशन पर मुफ्त में खाना भी दिया जाता है। इतना ही नहीं, स्टेशन से लेकर ट्रेन में बैठने तक में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाता है। रेलवे ने यात्रा के दौरान मास्क को अनिवार्य कर दिया है।

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.