गुड बाय प्ब्जि : आज से पूरी तरह बंद,सोशल मिडिया पर वॉयरल हुआ मीम्स

नई दिल्ली (द भारत लाइव) ।ऑनलाइन गेम खेलने वालों के लिए आज सबसे बुरा दिन है, क्योंकि पबजी मोबाइल और पबजी मोबाइल लाइट शुक्रवार से भारत में पूरी तरह से बंद हो गए। पबजी पर रोक के बावजूद अभी तक यह गेम अन्य प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध था। सोशल मीडिया पर पबजी के पूरे तरह से बंद होने पर तरह-तरह के मजेदार मीम्स वायरल हो रहे हैं।

कंपनी ने गुरुवार को सूचना देते हुए बताया था कि पबजी मोबाइल और पबजी मोबाइल लाइट 30 अक्टूबर से पूरी तरह बंद कर दिए जाएंगे। कंपनी ने भारत में गेम के तमाम फैंस को शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि उनके पर्सनल डाटा की सुरक्षा सबसे पहले है।
भारत ने करीब एक महीने पहले 118 ऐप्स पर प्रतिबंध लगाया था, इन 118 ऐप्स में गेमिंग ऐप पबजी पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया था। हालांकि कुछ दिन पहले पबजी मोबाइल के डेवलपर पबजी कॉर्प ने लिंक्डइन पर एक पोस्ट में कहा था कि भारत में बैटल रॉयल-स्टाइव गेम्स की भारत में वापसी की संभावना है।

00 नए गेम्स की तलाश में लोग :

खेल प्रेमियों द्वारा वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (वीपीएन) या दूसरे देशों में स्थित सर्वर के माध्यम से इसे किसी तरह से अपने मोबाइल पर खेलने की कोशिशों के बावजूद भी पबजी अभी वास्तविकता से कहीं दूर है, ऐसे में लोगों को नए गेम्स की तलाश है। इस समय गेमिंग कम्युनिटी का रुख कॉल ऑफ ड्यूटी और गरेना फ्री फायर जैसे गेम्स की ओर है।

आईओएस और एंड्रॉयड एप पर गरेना और कॉल ऑफ ड्यूटी सबसे अधिक डाउनलोड किए गए गेमों में से एक है। सूची में तीसरे स्थान पर `एमंग अस` है। इसके अलावा, पबजी पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद से गेनशिन इम्पैक्ट भी लोगों के बीच काफी मशहूर हो रहा है। इसके अलावा, स्क्रिबल राइडर भी सितंबर में सबसे ज्यादा डाउनलोड किए गए गेमों की सूची में दूसरे पायदान पर रहा है।

भारतीय गेमिंग कंपनी एनकोर भी स्वदेशी मल्टीप्लेयर एक्शन गेम फियरलेस एंड यूनाइटेड-गार्डस (फौजी) का ऐलान किया है ताकि लोगों में पबजी मोबाइल की खल रही कमी को कुछ हद तक पूरा किया जा सके। इसे जल्द ही लॉन्च किया जाएगा।

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.