लॉकडाउन के बीच फिर बढ़ी तारीख, अब इस दिन तक बंद रहेंगे स्कूल-कॉलेज

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पूरे देशभर में पिछले 2 महीनो से लॉकडाउन लागू हैं। इस दौरान करीब 2 महीने से स्कूल-कॉलेज समेत अन्य शिक्षण संस्थान भी बंद हैं।


नई दिल्ली: कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पूरे देशभर में पिछले 2 महीनो से लॉकडाउन लागू हैं। इस दौरान करीब 2 महीने से स्कूल-कॉलेज समेत अन्य शिक्षण संस्थान भी बंद हैं। हालांकि इस दौरान बच्चों की पढ़ाई में नुकसान ना हो इसलिए कई स्कूल और कॉलेज अपने स्टूडेंट्स को ऑनलाउन क्लासेस दे रहे हैं।

स्कूल और कॉलेज खोलने पर किया जा रहा विचार

इस बीच देश के अलग-अलग हिस्सों में स्कूल को फिर से खोलने पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। लेकिन इसी बीच गृह मंत्रालय की ओर से भी बयान जारी करते हुए ये स्पष्ट किया गया है कि उसकी ओर से स्कूल और कॉलेज खोलने की इजाजत नहीं दी गई है।

अधिकतर राज्य स्कूल दोबारा खोलने के पक्ष में

स्कूल कॉलेज बंद होने से बच्चों की पढ़ाई काफी प्रभावित हो रही है। ऐसे में अधिकतर राज्य सरकारें सोशल डिस्टेंसिंग के मद्देनजर और अन्य जरूरी एहतियात बरतत हुए स्कूलों को दोबारा खोलने का फैसला किया है। इसे लेकर दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने अभिभावकों, टीचर्स और स्टूडेंट्स से सुझाव मांगे हैं।

पश्चिम बंगाल में एक बार फिर बढ़ी स्कूलों को खोलने की तारीख

वहीं पश्चिम बंगाल सरकार ने स्कूल और कॉलेज को बंद करने की तारीख को और बढ़ा दिया है। पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने एलान किया है कि राज्य के सभी स्कूल 30 जून तक बंद रखे जाएंगे। बता दें कि पहले ये सीमा 10 जून तक थी।

अम्फान के चलते हुई भारी क्षति

पश्चिम बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्था चटर्जी ने बताया कि चक्रवात तूफान अम्फान की वजह से 8 जिलों में स्कूल की बिल्डिंग को काफी नुकसान हुआ है। इस बात की भी संभावना है कि कई स्कूलों की बिल्डिंग को क्वारनटीन सेंटर में तब्दील किया जा सकता है।

इस दिन होंगे 12वीं क्लास के एग्जाम

वहीं अगर बात करें पश्चिम बंगाल बोर्ड एग्जाम की तो वहां पर 12वीं क्लास के बाकी बचे एग्जाम 29 जून, 2 जुलाई और 6 जुलाई को होने हैं। शिक्षा मंत्री पार्था चटर्जी के मुताबिक, वेस्ट बंगाल काउंसिल ऑफ हायर सेकेंडरी एजुकेशन को राज्य के 1058 एग्जाम सेंटर्स पर परीक्षा आयोजित कराने के लिए समुचित कदम उठाने के निर्देश दिए गए हैं।

चक्रवात तूफान से 462 परीक्षा केंद्रों को भारी नुकसान

उन्होंने कहा कि अगर आवश्यकता पड़ती है तो परीक्षा का आयोजन कुछ कॉलेजों में भी किया जा सकता है। चक्रवात तूफान अम्फान के चलते पश्चिम बंगाल को काफी ज्यादा नुकसान हुआ है। अम्फान की वजह से राज्य के 462 परीक्षा केंद्रों को भारी क्षति पहुंची है।

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरटेलीग्राम और व्हाट्सप्प पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.